Wednesday, October 22, 2014

Breaking News in Hindi

Sitemap  |   Results  |  Downloads

Chandigarh > City News

आपके शहर की ख़बरें

  • FB-Share
  • Twwet
  • Gplus-Share
  • Pin-it

क्या सच में आशुतोष महाराज समाधि में हैं?

क्या कहना है डेरा प्रबंधन का?

क्या कहना है डेरा प्रबंधन का?
स्वामी विशालानंद व साध्वी जया भारती ने कहा कि जब संत लोग समाधि में चले जाते हैं तो हमारा फर्ज बनता है कि उनके शरीर की देखभाल करें। संत लोग हिमालय में इसलिए ही समाधि के लिए जाते थे क्योंकि वहां पर तापमान शून्य से कम होता था। वहां पर संत सालों समाधि लगाकर बैठते हैं, लेकिन महाराज आशुतोष कितने दिन फ्रीजर में रहेंगे, इस पर किसी का कोई उत्तर नहीं था।

स्वामी विश्वानंद ने कहा कि महाराज उच्च समाधि में हैं। वे अकसर कई दिनों के लिए अपना शरीर त्यागकर चले जाते हैं और वापस आ जाते हैं। समाधि की उच्चावस्था में चेतना अनंत में विस्तार प्राप्त करती है।

यह चेतना का स्थूल से सूक्ष्म जगत में प्रसार है। इसे आत्मा का परम तत्व में लीन होना भी कहा जा सकता है, जिसके तहत शरीर की क्रियाओं के रुकने से जो लक्षण उभरते हैं, उन्हें आधुनिक चिकित्सा विज्ञान डेथ सिम्पटम करार देता है।

स्वामी आदित्यानंद ने कहा कि ऐसी तमाम खबरें गलत हैं कि डेरे की संपत्ति का विवाद है। डेरे की गवर्निग बॉडी है जो पूरा संचालन कर रही है।
3 of 9

Tags

» ashutosh maharaj , exclusive , samadhi , Divya Jyoti Jagriti Sansthan , noormehel , jalandhar , punjab , dera , reality
what is the suspense behind ashutosh maharaj 'samadhi', Senior officials visit Divya Jyoti Jagriti Sansthan headquarters